पिथ प्लस

विषय   : कॉयर

प्रक्रिया के बारे मे : 

पिथ प्लस नाम की तकनालाजी का विकास कॉयर डस्ट के बायो कन्वर्जन के लिए किया गया है। इस तकनीक से कॉयर डस्ट को बहुत उपयोगी ऑर्गेनिक खाद में बदला जाता है, जिसका इस्तेमाल कृषि और बागवानी उद्योग में होता है। बायो कन्वर्जन के बाद प्राप्त किए गए उत्पाद में विकास के माध्यम के रूप में इस्तेमाल किए जाने के बेहतरीन गुण होते हैं, खासकर मृदा रहित कंटेनरों में इसका इस्तेमाल उच्च गुणवत्ता वाली बागवानी फसलों के उगाने के लिए इसका इस्तेमाल हो सकता है। कॉयर पिथ एक आदर्श मृदा री-कंडीशनर, मृदा ढांचा सुधारक और मृदा विकल्प (soil substrate) के रूप में सामने आता है, जिसमें बेहतरीन जल धारण क्षमता होती है।