प्रौद्योगिकी संवर्धन के लिए ज्ञान प्रबंध प्रणाली

प्रयोगशाला स्तर की कुछ प्रौद्योगिकीयों के व्यापारीकरण में भारी जोखिम होता है और उद्यमी आमतौर पर ऐसी प्रौद्योगिकी पर आधारित उपक्रमों को आजमाने के उत्सुक नहीं होते हैं। इस मुश्किल से निपटने के लिए कॉरपोरेशन ने ज्ञान प्रबंधन पद्धति (केएमएस) की शुरुआत की ताकि प्रौद्योगिकियों का संवर्धन, विकास और व्यापारीकरण किया जा सके। विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा जहां तक संभव हो मूल्यवर्धन के लिए प्रौद्योगिकी की व्यवस्थित पहचान और मूल्यांकन के लिए यह खुद चलने वाली व्यवस्था है। इससे प्रौद्योगिकी के व्यापारीकरण के लिए इसका पूरा पैकेज तैयार होता है। इससे सफलता की संभावना बढ़ जाती है।

एनआरडीसी को आवंटित प्रौद्योगिकी की विपणन योग्यता का मूल्यांकन करने के लिए केएमएस के तहत निम्नलिखित तीन विशेषज्ञ पैनल बनाए गए हैं :

  • जैव प्रौद्योगिकी के लिए विशेषज्ञ पैनल
  • कृषि से संबद्ध प्रौद्योगिकी के लिए एक्सपर्ट पैनल
  • आयुर्वेद और हर्बल प्रौद्योगिकी के लिए विशेषज्ञ पैनल